Body double of the Bollywood

image

Hrithik roshan

image

Salman khan with his body double

image

Akshay kumar with his body double

image

Rani mukerjee from the set Mardaani with her body double

image

Shahrukh khan

Advertisements
Posted in Uncategorized | Leave a comment

Dream connect the other world

I reached that place that planet ,I don’t know,but I was there.I reached there by a golden door and I saw there was many door around thousand ,lakh.
These people called that place “swarg” and the first person comes from the other world is “The king of swarg”

Posted in Uncategorized | Leave a comment

Thought of the day

One thing i have learned about life..You can be‪#‎important‬to someone but not all the time..

Posted in Uncategorized | Leave a comment

PH.d at 3 years

गुड़गांव [पूनम]। तीन वर्षीय विभोर अभी स्कूल नहीं जाता। घंटे भर के लिए बस प्ले स्कूल भेजा जाता है, ताकि अपनी उम्र के बच्चों के साथ खेल सके। मगर यह बच्चा ऐसा ज्ञान रखता है, जो बड़े-बड़ों के बस में नहीं है। उसकी असाधारण प्रतिभा को देखते हुए वर्ल्ड रिकार्ड एकेडमी उसे अगस्त मेंपीएचडीकी मानद उपाधि देने जा रही है। एशिया रिकार्ड बुक और इंडिया बुक ऑफ रिकार्ड में 20 तक का पहाड़ा सबसे कम समय मेंसुनाने वाले सबसे कम उम्र के बच्चे के रूप में उसका नाम दर्ज किया गया है।लैपटॉप से खेलता है :गुड़गांव के आरडी सिटी में रहने वाले विभोर के माता -पिता ईशा सिंगलाऔर अमित सिंगला कंप्यूटर इंजीनियर हैं। ईशा बताती हैं कि बच्चे को व्यस्त रखने के लिए वे टैबलेट और लैपटॉप दे देती थीं। अब वह इन्हीं से खेलता है और खेल-खेल में दुनिया भर के ज्ञान हासिल कर चुका है। वहलैपटॉप पर यू ट्यूब, गूगल से बहुत सारी जानकारियां ले रहा है। कंप्यूटर एप्लीकेशन के मेन्यू के साथ प्रयोग करता है। उसके समझने का तरीका अपना होता है। मेरी स्पेलिंग मिस्टेक सुधारता है। विभोर के नाना देवेन्द्र बंसल स्टेट बैंक में अधिकारी हैं और उन्हें लोग चलता फिरता कंप्यूटर कहते हैं।रात में दिमागी कसरत :विभोर रात के 10 बजे से सुबह तीन बजे तक सबसे ज्यादा एक्टिव होकर कंप्यूटर से खेलता है। उस वक्त वह दिमाग का सबसे ज्यादा उपयोग करता है। ईशा ने बताया, हम लोग रात के दस बजे से सुबह तीन बजे तक जगते हैं,क्योंकि विभोर जगता है। कारों में विभोर की बहुत दिलचस्पी है। सैकड़ों कारों के लोगों के शब्द पहचान लेता है। कई तरह से दिमाग की एक्सरसाइज करता रहता है। जिसमें मैं मदद करती हूं। वह बच्चों के साथ खेलने तथा कार्टून देखने में दिलचस्पी नहीं दिखाता है। हनी सिंह के गानों पर डांस करना भाता है, मगर कंप्यूटर टैब पर नई-नई चीजें जानना,नए एप्लीकेशन चलाना बेहद पसंद है। वह कक्षा दो तक की किताबें पढ़ लेता है। ईशा कहती हैं कि यह तो शुरुआत है, वह अपने बेटे के उन्नत मस्तिष्क को बेहतर साधन, सुविधाओं और प्रशिक्षण के साथ पूरा समय देकरआगे बढ़ाएंगी ताकि उसकी प्रतिभा दुनिया की बेहतरी में काम आए।विभोर की खासियत :- 24 अप्रैल 2012 को जन्मे विभोर सिंगला ने छह मिनट 18 सेकेंड में 20 तक का पहाड़ा सुनाकर एशिया बुक ऑफ रिकार्ड और 10 जनवरी 2015 को अपना नाम इंडिया बुक ऑफ रिकार्ड में दर्ज कराया, सबसे कम उम्र के बच्चे के तौर पर यह रिकार्ड विभोर के नाम दर्ज है।- वह 500 से ज्यादा शब्दों की स्पेलिंग बता सकता है। हिंदी, अंग्रेजी, रोमन और स्पेनिश में एक हजार तक की काउंटिंग जानता है।- वह 25 से ज्यादा प्रसिद्ध व्यक्तित्व और 30 से ज्यादा जानवरोंकी आवाज की नकल उतार लेता है।- विश्व के नक्शे में वह किसी भी देश को पहचान सकता है।- यूएसए के नक्शे में यूएसए के हर राज्य को पहचान सकता है।- 200 से ज्यादा कंप्यूटर एप्लीकेशन की समझ रखता है।-रिमोट वाली कार पर कई तरह के प्रयोग कर

image

Posted in Uncategorized | Leave a comment

5 facts you really don’t know

image

He Had Speech Troubles As a ChildEinstein was said to be a very slow talker as a child. He is said to not have begun speaking until around the age of five, which worried his parents into believing that he might be “slow.” Today the term “Einstein Syndrome” is used to categorize exceptionally bright children who display a delay in speech.

He Was Inspired by a CompassAs a child, young Albert was once struck ill, and to keep him entertained while he was bedridden, his father gave him a compass. It fascinated him and was said to be the first scientific thing he studied, as he immediately knew that some kind of invisible force caused the compass to point north.
He Played the Violin.Einstein’s mother was a piano player and instilled a love of music in him from a young age. He began playing music around age five, but it was at thirteen, after hearing Mozart, that he began to take up the violin seriously. Albert himself has been quoted as saying that had he not been a physicist, he would’ve been a musician because music gave him the most joy.
He Worked as a Patent Clerk.
After graduating from college, Einstein could not find academic work. He secured a job working for the Swiss patent office as an assistant examiner, evaluating patent applications. At one point he was actually passed over for a promotion because he had not “fully mastered machine technology,” proving that even Einstein had to deal with crappy bosses.
He Loved Sailing.Einstein had a great love of sailing. He was given his own boat as a present for his50th birthday in 1929 and spent much time sailing in New York. He was apparently nota particularly good sailor, remembered by the inhabitants of some of those.New York towns as constantly having to be rescued.

Posted in Uncategorized | Leave a comment

Our Einstein

image

This picture is of “Vashishtha Narayan Singh” one of the the greatest Mathematician alive.When most of us are striving hard to get a visa for USA this man came back to India in 1972 to serve in academics.The mathematician who challenged works of Great Scientist Albert Einstein needs our attention.1961: Passed matriculation from Bihar Board1961: Admitted to the prestigious Science College, Patna1963: Went to University of California, Berkley to study Mathematics under Prof. John L. Kelley1963 – 1969: Pursued special MSc in Mathematics.1969: Got PhD from University of California, Berkley, USA1969: Joined NASA as an Associate Scientist Professor in Washington DC, USA1969 – 1972: Remained in NASA1972: Returned to India1972: Joined as a Lecturer in Indian Instituteof Technology (IIT), Kanpur.1972 – 1977: Joined as a lecturer in IIT Kanpur, Tata Institute of Fundamental Research (TIFR), Bombay and Indian Statistical Institute (ISI), Kolkata.1977: shows symptom of Mental illness, Schizophrenia, admitted to the mental hospital at Ranchi, then Bihar, now in Jharkhand.1977 – 1988:under treatment.1988- Left home without informing anyone.1988 – 1992: There was no information about him.1992-(Feb. Month): He was found in a poor condition in Siwan, Bihar.At Present-Stayingat Home,under treatment.2013 – Lives in complete anonymity with none to care for him.Can we learn to respect?Why do we always fail to respect true geniuses ?[But many don’t know about this extraordinary man because In India, Mathematician live a covert life and are ultimately forgotten because of the ignorance of the Government and the media.He is neither a celebrity nor a Cricketer !! He is just a poor Ignored Indian Genius who challenged all western Mathematician

Posted in Uncategorized | Leave a comment

Don’t eat KFC

image

कैलिफोर्निया।अमेरिका में एक शख्स ने फास्ट फूड रेस्त्रां केएफसी परखाने में तला हुआ चूहा परोसना का आरोप लगाया है। फेसबुक पर तस्वीरें वायरल होने के बाद हड़कंप मचा है, वहीं कंपनी ने इनकार किया है।डेवोरिस डिक्सन ने फेसबुक पर तस्वीरें जारी की हैं, जिनमें लंबी पूंछवाला गहरे तेल में तला चूहा दिखाई दे रहा है। डिक्सन का कहना है कि उन्होंने केएफसी से खाना ऑर्डर किया था, जिसके पैकेट में यह चूहा निकला।तस्वीरों को फेसबुक पर ही एक लाख से ज्यादा लोग शेयर कर चुके हैं। डिक्सन के मुताबिक, मैंने तुरंत मैनजर से बात की, जिसने स्वीकार किया कि वह एक चूहा था।हालांकि कंपनी ने अपने फेसबुक पेज पर इस संबंध में सफाई दी और आरोपोंका खंडन किया। लिखा है – ‘केएफसी अपने ग्राहकों की बात को बहुत गंभीरता से लेता है।हमारे चिकन कई आकार में होते हैं और डिक्सन द्वारा कही गई बात गलत है। हम डिक्सन से संपर्क साधने की कोशिश कर रहे हैं ताकि उक्त खाद्यपदार्थ को केएफसी में मंगवाकर टेस्ट कि

Posted in Uncategorized | Leave a comment